.🍁 उसे कैसे भुला दूँ मैं , दिया उपनाम है मुझको 🍁

Kavi DrPatel

रचनाकार- Kavi DrPatel

विधा- मुक्तक

******************************************
मधुर मुस्कान से मेरी , पराजय जीत में बदले ।

उदासी को दिखा आशा, मधुर संगीत में बदले ।

उसे कैसे भुला दूँ मैं , दिया उपनाम है मुझको ,

भुला कर गम ज़माने के, सुखों की रीत में बदले ।**************************************
वीर पटेल

बेहतरीन साहित्यिक पुस्तकें सिर्फ आपके लिए- यहाँ क्लिक करें

Views 37
इस पेज का लिंक-
Sponsored
Recommended
Author
Kavi DrPatel
Posts 25
Total Views 654
मैं कवि डॉ. वीर पटेल नगर पंचायत ऊगू जनपद उन्नाव (उ.प्र.) स्वतन्त्र लेखन हिंदी कविता ,गीत , दोहे , छंद, मुक्तक ,गजल , द्वारा सामाजिक व ऐतिहासिक भावपूर्ण सृजन से समाज में जन जागरण करना

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia