ग़ज़ल- कौन दिल की आवाज सुनता है

आकाश महेशपुरी

रचनाकार- आकाश महेशपुरी

विधा- गज़ल/गीतिका

ग़ज़ल- कौन दिल की आवाज सुनता है
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
पैसे की ही वो आज सुनता है
कौन दिल की आवाज सुनता है
°°°
जिसने लोगों में डर किया पैदा
बातें उसकी समाज सुनता है
°°°
जो भी दिल से करे अदा यारों
रब तो उसकी नमाज सुनता है
°°°
ये तो जनता है इसकी आहों को
कब कहाँ पर ये ताज सुनता है
°°°
मेरा दिल तो महज तेरे दिल का
जब भी बजता है साज सुनता है
°°°
आज ''आकाश'' दिल की कह तो दूं
पर तू हो के नाराज सुनता है

– आकाश महेशपुरी

बेहतरीन साहित्यिक पुस्तकें सिर्फ आपके लिए- यहाँ क्लिक करें

Views 10
इस पेज का लिंक-
Sponsored
Recommended
Author
आकाश महेशपुरी
Posts 79
Total Views 1k
पूरा नाम- वकील कुशवाहा "आकाश महेशपुरी" जन्म- 20-04-1980 पेशा- शिक्षक रुचि- काव्य लेखन

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia