हिंदी दिवस पर

RAMESH SHARMA

रचनाकार- RAMESH SHARMA

विधा- दोहे

माह सितम्बर की हुई, है चौदह तारीख !
देंगे सारे आज फिर,हिंदी तुझको सीख! !

हिंदी मेरे देश की,….. मोहक मधुर जुबान !
इसका होना चाहिए, और अधिक उत्थान !!

किया उन्होंने आज फिर, हिंदी पर अहसान !
दिया साल के बाद फिर, हिंदी में व्याख्यान !!

भावी पीढ़ी पर अगर, दिया नहीं जो ध्यान !
हो जाएगी सत्य यह,…. हिंदी से अनजान !!

हिंदी का समझें बड़ा, खुद को खिदमतगार !
बच्चे जिनके पढ़ रहे,….. अँग्रेजी अखबार !!

अँग्रेजी में लिख रहे, हिन्दी का अनुवाद !
संसद में भरपूर है ,…. ऐसों की तादाद !!

होती हिंदुस्तान की,……हिंदी से पहचान !
इसका होना चाहिए, सबको ही अभिमान !!

हिंदी का आदर करे ,..पढें नये नित छंद !
होगी सबकी एक दिन,हिंदी प्रथम पसंद !!

हिंदी भाषा देश की,…..जिसकी नही मिसाल !
समय समय पर विश्व मे,जिसने किया कमाल ! !

फिल्मो का भी हाथ है,इसमे बडा रमेश !
हिंदी को पहचानते, इसकारण सब देश !!

फिल्मो के द्वारा गया, सहज बड़ा सन्देश !
हिंदी मे बातें करे,……. आज समूचा देश !!

अंग्रेजी मे ले रहे,…हिंदी का वो स्वाद !
भाषा हिंदी बोझ सी, दी हो जैसे लाद !!

हुई धुंधली आज पर ,उज्वल है तकदीर !
चलो सँवारें हम सभी, हिंदी की तस्वीर !!
रमेश शर्मा.

Sponsored
Views 13
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
RAMESH SHARMA
Posts 175
Total Views 3.2k
अपने जीवन काल में, करो काम ये नेक ! जन्मदिवस पर स्वयं के,वृक्ष लगाओ एक !! रमेश शर्मा

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia