हादसा बता के निकल लिया !

Yashvardhan Goel

रचनाकार- Yashvardhan Goel

विधा- गज़ल/गीतिका

हर बार वही झुकता
सही था ,
गलत बता के निकल लिया !

इश्क़ होता तो रुकता
ज़रुरत को ,
हादसा बता के निकल लिया !

Sponsored
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Yashvardhan Goel
Posts 30
Total Views 191

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia