हाइकु

डॉ संगीता गांधी

रचनाकार- डॉ संगीता गांधी

विधा- हाइकु

जीवन
*****
…………..

मन में क्षोभ
वेदना घनघोर
मृत्यु का ग्रास
……………….
आशा खंडित
गहन अवसाद
शव दर्शन
…………
आत्मा अमर
पुनः से आगमन
नव जीवन
……………..

हाइकु
मजदूर दिवस
—–
रिक्शा चालक
परिश्रम कठोर
प्राप्य पिघला स्वेद
–*******
झुग्गी जीवन
निर्धनता शाश्वत
नित अभाव
********
ग्राम की स्मृति
विवश पलायन
नियति खेल ।

बेहतरीन साहित्यिक पुस्तकें सिर्फ आपके लिए- यहाँ क्लिक करें

Views 2
इस पेज का लिंक-
Sponsored
Recommended
Author

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia