( हाइकु) सफर

Geetesh Dubey

रचनाकार- Geetesh Dubey

विधा- हाइकु

हाइकू
******

मेरा सफर
किस तरह कटा
नही खबर

चलता रहा
मदहोशियों संग
मै बेखबर

साथ अपने
काफिला कोई नही
सूनी डगर

दिखने लगीं
मंज़िलें जो दूर थीं
आई सहर

शुक्रिया तु्म्हे
डाली जो हम पर
इक नज़र।

🌹गीत🌹🙏

Sponsored
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Geetesh Dubey
Posts 24
Total Views 656

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia