“हम पाकिस्तान मिटा देंगे “(कविता)

ramprasad lilhare

रचनाकार- ramprasad lilhare

विधा- कविता

"हम पाकिस्तान मिटा देंगे "(कविता)

देख नापाक पाकिस्तानी, हमको पता हैं तेरी कहानी।
गर जो तुने बात न मानी, करता रहा यूँ ही मनमानी।
तो फिर सुनले पाकिस्तानी,हम हस्ती तेरी मिटा देंगे।
नक्शे से तुझे हटा देंगे, हम पाकिस्तान मिटा देंगे।

हम शांति के पुजारी हैं, प्रयास अमन का जारी है।
सबको है पता यहाँ पर,हम ही तुझ पर भारी है।
फिर भी गर तु न माना तो, हम कोहराम मचा देंगे।
नक्शे से तुझे हटा देंगे, हम पाकिस्तान मिटा देंगे।

वक्त गवाह इतिहास गवाह है, जब भी पाक तु हमसे लड़ा हैं।
हर बार ही मुहकी खायी हैं, तेरे हिस्से हार ही आयी हैं।
फिर भी गर तु हमसे लड़ा तो, तुझको धूल चटा देंगे।
नक्शे से तुझे हटा देंगे, हम पाकिस्तान मिटा देंगे।

चाहें हो कारगिल की फाइट, चाहें हो सर्जिकल स्ट्राइक।
जब भी तुने हमें ललकारा, हमनें की हैं तुझसे फाइट।
आगे भी जो तु ललकारे, तुझको सबक सिखा देंगे।
नक्शे से तुझे हटा देंगे, हम पाकिस्तान मिटा देंगे।

छोड़ दे हिंसा के रास्ते, ठीक नहीं ये जन के वास्ते।
पाक तुझे खुदा का वास्ता, अपना ले अमन का रास्ता।
फिर भी गर तु ना सुधरा तो, तेरा इतिहास मिटा देंगे।
नक्शे से तुझे हटा देंगे, हम पाकिस्तान मिटा देंगे।

कवि
रामप्रसाद लिल्हारे
"मीना "

Views 40
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
ramprasad lilhare
Posts 37
Total Views 798
रामप्रसाद लिल्हारे "मीना "चिखला तहसील किरनापुर जिला बालाघाट म.प्र। हास्य व्यंग्य कवि पसंदीदा छंद -दोहा, कुण्डलियाँ सभी प्रकार की कविता, शेर, हास्य व्यंग्य लिखना पसंद वर्तमान में शास उच्च माध्यमिक विद्यालय माटे किरनापुर में शिक्षक के पद पर कार्यरत। शिक्षा एम. ए हिन्दी साहित्य नेट उत्तीर्ण हिन्दी साहित्य। डी. एड। जन्म तिथि 21-04 -1985 मेरी दो कविता "आवाज़ "और "जनाबेआली " पत्रिकाओं में प्रकाशित हुई है।

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia