सापेक्षता (समकालीन कविता)

ईश्वर दयाल गोस्वामी

रचनाकार- ईश्वर दयाल गोस्वामी

विधा- कविता

तुम,
आधे-अधूरे नहीं,
परिपूर्ण हो,
सम्पूर्ण हो ।
क्योंकि-
तुम्हारे पास
हाथ हैं ,
पांव हैं ,
नाक है,
कान हैं,
आंखें हैं ।
यहां तक कि-
उन्नत कल्पनाओं
को सहेजने
बाला मन भी ;
करूणा से
भरा हृदय और
अनुशासित
मस्तिष्क भी ।
फिर भी
जब-जब
देखती हैं तुम्हारी आंखें
केवल हरियाली ,
तब-तब
पतझड़ में भी
खिलते हैं वसंत के फूल ।
जब-जब
सुनते हैं तुम्हारे कान
मानवता का राग ।
तब-तब
झूम उठती है प्रकृति
और भाग जाते हैं
अप्रत्याशित भय
जीवन के ।
जब-जब
संपन्न करते हैं
तुम्हारे पांव
"दाण्डी-यात्रा" ।
तब-तब
कुछ निश्चिंत-सी
हो जाती है
यह धरती ।
जब-जब भी
तुम्हारा हृदय
करता है
सच्चा पश्चाताप
" कलिंग के बाद " ।
तब-तब
समुद्र को भी
होने लगती है
ईर्ष्या तुमसे ।
जब-जब
तुम चढ़ जाते हो
सलीब पर
सम्पूर्ण समर्पण से ।
तब-तब
आकाश भी
मह़सूस़ करता है
अपना बौनापन ।
जब-जब
तुम्हारी जिह्वा
कहती है
"भज गोबिंदम् मूढ़ मते" ।
तब-तब
ज्ञान की धरती
पर भी लहलहाती है
भक्ति की मीठी फ़सल ।
जब-जब
मस्तिष्क तुम्हारा
बनता है
"आइंस्टाइन "
तब-तब
गौरवान्वित होता है
ब्रह्माण्ड ,
अपनी ही रचना पर ।
ऐंसा
तब-तब
होता है ,
जब-जब
तुम्हारी सोच
होती है "धनात्मक" ।
क्या कभी ?
तुमने. … तुमने
या किसी ने भी
सोचा है आज तक ,
तनिक भी
गहराई से कि
तुम्हारे जीवित
होते हुए भी
जीवन से कितना
दूर ले जाती है
तुम्हें , तुम्हारी ही
" ऋणात्मक सोच ". ।

ईश्वर दयाल गोस्वामी ।
कवि एवं शिक्षक ।

Sponsored
Views 331
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Posts 74
Total Views 44k
-ईश्वर दयाल गोस्वामी कवि एवं शिक्षक , भागवत कथा वाचक जन्म-तिथि - 05 - 02 - 1971 जन्म-स्थान - रहली स्थायी पता- ग्राम पोस्ट-छिरारी,तहसील-. रहली जिला-सागर (मध्य-प्रदेश) पिन-कोड- 470-227 मोवा.नंबर-08463884927 हिन्दीबुंदेली मे गत 25वर्ष से काव्य रचना । कविताएँ समाचार पत्रों व पत्रिकाओं में प्रकाशित । रुचियाँ-काव्य रचना,अभिनय,चित्रकला । पुरस्कार - समकालीन कविता के लिए राज्य शिक्षा केन्द्र भोपाल द्वारा 2013 में राज्य स्तरीय पुरस्कार । नेशनल बुक ट्रस्ट नई दिल्ली द्वारा रमेशदत्त दुबे युवा कवि सम्मान 2015 ।

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia