समझौता

ईश्वर दयाल गोस्वामी

रचनाकार- ईश्वर दयाल गोस्वामी

विधा- कविता

लड़की,
बीड़ी की
टोकरी लिए
जाती है,
कारख़ाने
रोज़-ब-रोज़ ।
ठेकेदार
घूरता है उसे
श्वान की तरह,
ताकता है,
उसकी देहयष्टि ।
जैसे कि-
लड़की बीड़ी है,
या बीड़ी ही
लड़की है ,
रोज़-ब-रोज़ ।
फिर भी
लड़की बीड़ी
बनाती है,और
टोकरी लिए
जाती है कारख़ाने
रोज़-ब-रोज़ ।
तेंदूपत्ते की गिड्डी
उसके लिए है
जैसे-काग़जों
की रीम ।
जिसमें पढ़ती है
लड़की ग़रीबी
का पाठ और
सीखती है हिसाब
दुनियाँदारी का ,
ठेकेदार की
आँखों में छलकती
वासना ,
गलियों से ग़ुजरते
मनचलों के
अश्लील ताने और
कई बार
फ़ाका-मस्ती झेलकर
वक्त से पहले ही
सयानी हो चली
है, अब लड़की ।
लड़की,जिसके
हाथ में थमना था
स्कूल का बस्ता ,
जिसके गीत से
गूँजना थीं
घर की दीवारें ।
उसे भूख ने
थमा दिए तेंदूपत्ते,
जरदा और टोकरी।
छोकरी फिर भी
प्रसन्न है,क्योंकि-
उसके भाई तो
जाते हैं स्कूल ।
वे पढ़ेंगे ,
अफ़सर बनेंगे
और करायेंगे
उसका व्याह
किसी अम़ीर के साथ ।
इस आशा से
लड़की बीड़ी
बनाती है और
टोकरी लिए
जाती है कारख़ाने
रोज़-ब-रोज़ ।
बाबा उसे
पढ़ा नहीं सकते,
लड़की
पराया धन है
उनकी नज़र में ।
माई उसे खिला
नहीं सकती क्योंकि-
लड़कों को
कम पड़ जाएगा
रोज़ का भोजन ,
फिर भी
उसकी कमाई में
सभी का
हिस्सा है ,
बाबा का ,
माई का और
भाई का ।
इसलिए लड़की
बीड़ी बनाती है
और टोकरी लिए
जाती है कारख़ाने
रोज़-ब-रोज़ ।
मनचलों की
सीटियाँ सुनते हुए ।
बुनते हुए सपने
सुंदर भविष्य के ।

Sponsored
Views 916
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Posts 74
Total Views 43.6k
-ईश्वर दयाल गोस्वामी कवि एवं शिक्षक , भागवत कथा वाचक जन्म-तिथि - 05 - 02 - 1971 जन्म-स्थान - रहली स्थायी पता- ग्राम पोस्ट-छिरारी,तहसील-. रहली जिला-सागर (मध्य-प्रदेश) पिन-कोड- 470-227 मोवा.नंबर-08463884927 हिन्दीबुंदेली मे गत 25वर्ष से काव्य रचना । कविताएँ समाचार पत्रों व पत्रिकाओं में प्रकाशित । रुचियाँ-काव्य रचना,अभिनय,चित्रकला । पुरस्कार - समकालीन कविता के लिए राज्य शिक्षा केन्द्र भोपाल द्वारा 2013 में राज्य स्तरीय पुरस्कार । नेशनल बुक ट्रस्ट नई दिल्ली द्वारा रमेशदत्त दुबे युवा कवि सम्मान 2015 ।

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia
2 comments