शेर :– मेरे कुछ शेर -भाग -1 !!

Anuj Tiwari

रचनाकार- Anuj Tiwari "इन्दवार"

विधा- शेर

शेर :– मेरे कुछ शेर -भाग -1 !!

दर्द दिल से रो पड़ी अब तो कलमें भी यहाँ !
कब तलक लिखते रहेंगे प्यार की ये दास्तां !!

पूज लो उसको यहाँ चाहे खुदा तुम मान कर !
सिरफिरे को सरफरोशी हम मगर कहते नहीँ !!

जिंदगी के इस सफर में चंद लम्हे रह गये !
अनसुनें उलझे यहाँ कुछ अनकहे से रह गए !!

आरजू के हर परों को हमने काटा खुद-व-खुद !
चन्द पैसों में बिकी जब आबरू मेरे वतन की!!

तुमसे बिछड़ के हम यहाँ जिंदा हैं या नहीँ !
मैं सच कहूँ तो ये मुझे शायद पता नहीँ !!

अनुज तिवारी "इन्दवार"

Sponsored
Views 375
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Anuj Tiwari
Posts 108
Total Views 38k
नाम - अनुज तिवारी "इन्दवार" पता - इंदवार , उमरिया : मध्य-प्रदेश लेखन--- ग़ज़ल , गीत ,नवगीत ,कविता , हाइकु ,कव्वाली , तेवारी आदि चेतना मध्य-प्रदेश द्वारा चेतना सम्मान (20 फरवरी 2016) शिक्षण -- मेकेनिकल इन्जीनियरिंग व्यवसाय -- नौकरी प्रकाशित पुस्तकें :-- 1) नया युग नई सोच 2) परवाज़ (ग़ज़ल संग्रह) 3) जज्बात-ए-कलम 4) प्रत्याशा : एक पग पथ की ओर मोबाइल नम्बर --9158688418 anujtiwari.jbp@gmail.com

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia