शायरी से आज

नीलोफ़र नूर

रचनाकार- नीलोफ़र नूर

विधा- शेर

शिकवे हज़ार करने हैं हमको किसी से आज
मन्सूब इसलिए हुए हम शायरी …से आज

लगने लगा है डर मुझे इतनी खुशी से आज
पूछा है हाल उसने मेरा हर.किसी से आज

Sponsored
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
नीलोफ़र नूर
Posts 3
Total Views 24
नाम :-आसमा परवीन तखल्लुस:- नीलोफर नूर पता:- ई.एच 20 प्रीत विहार दिल्ली रोड हापुड यौमे पैदाइश:-28/02/1976 उस्ताद मौहतरम:- मनोज बेताब साहब

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia
One comment