शादी शुदा पुरुषों को मेरा नमस्कार है..

shalni sri

रचनाकार- shalni sri

विधा- कविता

फेसबुक यूज करने वाले
शादी शुदा पुरुषों को
मेरा नमस्कार है…

मोबाइल रूपी जीवन में
वाइफ और गर्लफ्रेण्ड
नामक ऐप्स ,
रखने वालों को
बारम्बार प्रणाम है !!

इन दो विपरीत
जलवायु में,
समायोजन के लिये
इन पुरुषों को
शौर्य सम्मान है !!

साथ ही मंगल ग्रह से
आया पैगाम है,
आई एस आई मार्क
प्रमाणित,
पति बनाये जायेें
ऐसा फरमान है !!

पत्नियों को विश्वसनीय
और सुरक्षित,
पति मिले
एैसा एैलान है !!

अब पति बेचा़रा
बड़ा परेशान है..

ये कैसा पैगाम है?
ये कैसा फरमान है?
ये कैसा एैलान है?

गर्लफ्रण्ड के बिना
जिन्दगी ,
कितनी वीरान है????

बीवी बोली
सब आसान है,
तेरे हाथों में मेरा हाथ है
मेरे हाथों को,
बेलन का साथ है
तेरा मेरा
सात जन्मों का साथ है!!

शादी शुदा पुरुषों को मेरा…………

Sponsored
Views 51
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
shalni sri
Posts 5
Total Views 194
नाम - Shalini srivastava निवास स्थान- U. P

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia