लाल बिहारी लाल के गुरु पर कुछ दोहा

लाल लाल

रचनाकार- लाल लाल

विधा- दोहे

शिक्षक दिवस (गुरु पर) पर विशेष
या
लाल बिहारी लाल के गुरु पर कुछ दोहा

बिना गुरु ज्ञान जग में,ले ना पाया कोय।
गुरु का जो मान रखा, जग बैरी ना होय।1।

गुरु को गुरु की तरह, माने आज इंसान।
उसका मान सभी करे,हरी करे कल्याण।2।

गुरु ज्ञान की खान है,ले लो जितनी चाह।
भला करे बस हर घड़ी,लाल खुलेगा राह।3।

गुरु बिन जग में कुछ भी,पाना नहीं असान।
गुरु करे कृपा जिस पर,उसका हो कल्याण।4।

पहला गुरु मां जग में, दूजा दे जो ज्ञान।
गुरु दोष रहित कर दे,मानव बने महान।5।

बदरपुर,नई दिल्ली-44

Sponsored
Views 6
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
लाल लाल
Posts 6
Total Views 34

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia