लव-यू लव-यू बोल के वो दिल ले गई…

krishan saini

रचनाकार- krishan saini

विधा- गीत

लव-यू लव-यू बोल के वो दिल ले गई…-2
एक ठंडे दिल को वो आग दे गई…-2
क्या करू मे क्या करू जान मेरी जाती है…
उस लडकी की याद मुझे तडपाती है…
सोच कर ही दूरीया मेरी आंख भर आती
है…
सपनो मे भी केवल वो ही नजर आती है…
उसकी मुस्कान मुझे प्रीत दे गई…-2
लव-यू लव-यू बोल के……

कोलेज की पहली बात फ़िर चलना साथ-
साथ वो…
रोज मुलाकात और बारिश की पहली रात
वो…
तेरे साथ देखी चांद-तारो की बारात जो…
सब मेरी यादो मे मिठास दे गई……-2
लव-यू लव-यू बोल के……

मे लडका सीधा-सादा, वो कोलेज की
महारानी थी…
पढना-लिखना कुछ नही,वो थोडी बचकानी
थी…
मिला जो दिलोमेल,वो दिलजानी बन गई…
लव-यू लव-यू बोल के…

लडती-झगडती वो, फ़िर मान जाती है…
होंठो की लाली उसकी,
दिल ललचाती है…
प्यार की सुगंध से जीवन को महकाती है…
मेरी कलम की वो स्याही बन गई…
लव-यू लव-यू बोल के वो दिल ले गई…-2
एक ठंडे दिल को वो आग दे गई…-2

Views 48
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
krishan saini
Posts 8
Total Views 590
पता-विराटनगर जयपुर(राजस्थान) जीवन को मॉ शारदे की सेवा मे लगाने का सपना Mo.no.-9782898531 Twitter-krish24496

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia