रहे याद रिश्ते बनाने से पहले

Dr Archana Gupta

रचनाकार- Dr Archana Gupta

विधा- गज़ल/गीतिका

रहे याद रिश्ते बनाने से पहले
कि देना भी पड़ता है पाने से पहले

जरा झाँक लेना गिरेबान अपना
किसी पर भी उँगली उठाने से पहले

कहीं डर न जाना यहाँ देखकर गम
रुलाता है भगवन हँसाने से पहले

न अंजाम कुछ सोचते हैं कभी भी
दीवाने यहाँ दिल लगाने से पहले

अगर बात दिल की किसी से है कहनी
परख उनको लेना बताने से पहले

करो 'अर्चना' सैर व्यायाम योगा
सुबह की किरण में नहाने से पहले

डॉ अर्चना गुप्ता

Views 101
Sponsored
Author
Dr Archana Gupta
Posts 233
Total Views 14.3k
Co-Founder and President, Sahityapedia.com जन्मतिथि- 15 जून शिक्षा- एम एस सी (भौतिक शास्त्र), एम एड (गोल्ड मेडलिस्ट), पी एचडी संप्रति- प्रकाशित कृतियाँ- साझा संकलन गीतिकालोक, अधूरा मुक्तक(काव्य संकलन), विहग प्रीति के (साझा मुक्तक संग्रह), काव्योदय (ग़ज़ल संग्रह)प्रथम एवं द्वितीय प्रमुख पत्र पत्रिकाओं में रचनाएँ प्रकाशित।
इस पेज का लिंक-

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
Related Posts
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia
7 comments
  1. बहुत खूबसूरत गजल हुई है. सुन हरी अवश्य खटका.