मेरे होने की वजह

सन्दीप कुमार 'भारतीय'

रचनाकार- सन्दीप कुमार 'भारतीय'

विधा- कविता

आज इस राज से पर्दा उठा दे

मेरे होने की वजह मुझे बता दे

मेरी ज़िन्दगी की रातों की,

कब होगी सुबह बता दे,

हर तरफ अँधेरा है घना,

कैसे होगी रौशनी बता दे,

निराशाओं से मन घिर रहा है,

कोई तो आशा की किरण दिखा दे,

पत्तों की मानिंद उड़ रहा हूँ मैं,

मेरी उड़ान को कोई दिशा दिखा दे,

दूर क्षितिज में कोई बिंदु चमक रहा है,

उस बिंदु तक पहुचने की राह बता दे,

मेरा वजूद क्या है,

कौन हूँ मैं,

मेरी हकीकत क्या है,

मेरे हर सवाल का जवाब बता दे,

"संदीप कुमार"

Views 68
Sponsored
Author
सन्दीप कुमार 'भारतीय'
Posts 60
Total Views 5.3k
3 साझा पुस्तकें प्रकाशित हुई हैं | दो हाइकू पुस्तक है "साझा नभ का कोना" तथा "साझा संग्रह - शत हाइकुकार - साल शताब्दी" तीसरी पुस्तक तांका सदोका आधारित है "कलरव" | समय समय पर पत्रिकाओं में रचनायें प्रकाशित होती रहती हैं |
इस पेज का लिंक-

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
Related Posts
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia