मुक्तक–घरौंदा

Sajoo Chaturvedi

रचनाकार- Sajoo Chaturvedi

विधा- मुक्तक

रेत का घरौंदा
सागर का किनारा
प्यार से बनाया
भूलक्कड़ मस्तिष्क
हाथ रखा टूट गया
सज्जो चतुर्वेदी*****

इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Sajoo Chaturvedi
Posts 13
Total Views 35

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia