मायका ।

Satyendra kumar Upadhyay

रचनाकार- Satyendra kumar Upadhyay

विधा- कहानी

सुरेश शाम घर पहुँचा, सारे टीन-टप्पर इधर-उधर , पड़ोसी व पुलिस खोज में , नजर घूमी तो मालकिन बच्चों के साथ दिखी, आकर धीरे से बोली, मायके में बीमार माॅ को देखने गयी थी।ये ऑधी कब आई मालूम नहीं । सभी को राहत मिली ।

Sponsored
Author
Satyendra kumar Upadhyay
Posts 11
Total Views 36
short story writer.
इस पेज का लिंक-

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
Related Posts
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia