मायका ।

Satyendra kumar Upadhyay

रचनाकार- Satyendra kumar Upadhyay

विधा- कहानी

सुरेश शाम घर पहुँचा, सारे टीन-टप्पर इधर-उधर , पड़ोसी व पुलिस खोज में , नजर घूमी तो मालकिन बच्चों के साथ दिखी, आकर धीरे से बोली, मायके में बीमार माॅ को देखने गयी थी।ये ऑधी कब आई मालूम नहीं । सभी को राहत मिली ।

इस पेज का लिंक-
Sponsored
Author
Satyendra kumar Upadhyay
Posts 13
Total Views 45
short story writer.

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia