माँ मुझे भी दुनिया में लाना

लक्ष्मी सिंह

रचनाकार- लक्ष्मी सिंह

विधा- कविता

🌹🌹🌹🌹🌹
ओ माँ! प्यारी माँ!
मुझे भी दुनिया में लाना।
वो छुअन,वो स्पर्श का
अहसास मुझे भी कराना।
🌹
ओ माँ! मुझे भी देना,
अपनी ममता का साया।
माँ तेरी गर्भ में सदैव
सुरक्षित रहे मेरी काया।
🌹
ओ माँ! मुझे भी देना,
अपनी गोद का बिछौना।
अपनी बाहों की झूले में
ओ माँ मुझे भी झुलाना।
🌹
ओ माँ! मुझे भी अपनी
वो मीठी-सी लोरी सुनाना।
ओ माँ इस दुनिया में
मुझे भी सुरक्षित लाना।
🌹
ओ माँ!मैं तेरा ही रूप हूँ
अपना रूप ना मिटाना।
लोगों की मत मानना,
अपनी दिल की कही सुनना।
🌹
ओ माँ! मुझे भी
ये सुन्दर संसार दिखाना।
ओ माँ! प्यारी माँ!
मुझे भी दुनिया में लाना।
🌹🌹🌹🌹—लक्ष्मी सिंह 💓😊

Views 265
Sponsored
Author
लक्ष्मी सिंह
Posts 149
Total Views 46.1k
MA B Ed (sanskrit) please visit my blog lakshmisingh.blogspot.com( Darpan) This is my collection of poems and stories. Thank you for your support.
इस पेज का लिंक-

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
Related Posts
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia