मम्मी मेरी सबसे प्यारी

Mamta Rani

रचनाकार- Mamta Rani

विधा- कविता

मम्मी मेरी सबसे प्यारी,
सबसे न्यारी मेरी मम्मी।
लगती है प्यारों में प्यारी
मम्मी में जहाँ बसा है,
और मैं मम्मी में।

मम्मी है तो जीवन सारा,
लगता कितना रंग बिरंगा।

पापा मम्मी का मुझे प्यार मिला,
भईया का दुलार मिला।
जो भी में चाहती,
अपनें पास मैं पाती।

जब भी मैं दुखी होती,
मम्मी मुझे समझाती।

भईया हैं समझाते,
मुश्किलों से लड़ना।

जब भी मैं रोती,
सब मिल मुझे हँसात।
दोनों भईया हैं प्यारे,
मुझे बहुत हैं मानते।।

दुनियां की सारी मम्मियों से,
मेरी मम्मी सबसे प्यारी है।

मैं बहुत खुश हूं,
अपने घर में।
मैं हूँ माँ की ममता,
और भईया की बहन।

नाम-ममता रानी ,राधानगर (बाँका)

Sponsored
Views 43
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Mamta Rani
Posts 17
Total Views 438

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia