बिटिया

Narendra Shrivastav

रचनाकार- Narendra Shrivastav

विधा- कविता

मेरी एक कहानी बिटिया।
मेरे दिल की रानी बिटिया।।

उसकी चंचल बातें हर-इक।
याद मुझे जुबानी बिटिया।।

हर पल उसके साथ जिऊँ मैं।
वही मेरी जिंदगानी बिटिया।।

वो ही मेरी आँख का तारा।
वही परी आसमानी बिटिया।।

सुख असीम' अनमोल मिले जब।
मुझे देख मुस्कानी बिटिया।।

आँँचल माँ,आकाश पिता का।
वह सर्वत्र समानी बिटिया।।

करूँ कामना और यही प्रार्थना।
हो हर घड़ी सुहानी बिटिया।।

***
नरेन्द्र श्रीवास्तव
पलोटन गंज,गाडरवारा,म.प्र.
मो.9993278808

Views 35
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Narendra Shrivastav
Posts 1
Total Views 35

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia