बाल कविता

आशीष बहल

रचनाकार- आशीष बहल

विधा- कविता

दूध मलाई रोज खाओ

चुनु मुनु दो भाई, खूब खाते दूध और मलाई
दूध है उनको खूब भाता पीकर उनको बड़ा मजा आता,
दो गिलास दूध जो पीते , नम्बर भी हैं पुरे मिलते,
सबको हैं वो खूब भगाते, खेलों में भी  वो जीत जाते
बीमार कभी न दोनों होते, रोज तभी तो स्कूल को जाते,
सबको सेहत का राज बतलाते , दूध मलाई है खूब खाते।
आशीष बहल चुवाड़ी
जिला चम्बा

Views 96
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
आशीष बहल
Posts 5
Total Views 440
अध्यापक, कवि, लेखक व विभिन्न समाचार पत्रों में स्तम्भ लेखन

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia