प्रश्नोत्तरी

Rajeev 'Prakhar'

रचनाकार- Rajeev 'Prakhar'

विधा- कविता

झूठ बोल सकते हो ?
नहीं साहब l

चोरों लुटेरों की मदद कर सकते हो ?
नहीं साहब l

किसी निर्दोष और लाचार को सता सकते हो ?
नहीं साहब l

तो राजनीति में आने का सपना,
पूरी तरह भूल जाओ l
ऐसा करो, कुछ दिन,
दरोगा जी के साथ बिताओ l
बाद में आकर हाल बता जाना,
जब सब कुछ सीख जाओ,
तो राजनीति में आ जाना l

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

– राजीव 'प्रखर'
मुरादाबाद
मो. 8941912642

Sponsored
Views 46
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Rajeev 'Prakhar'
Posts 17
Total Views 778
I am Rajeev 'Prakhar' active in the field of Kavita.

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia