“पुरानी डायरी”

ज़ैद बलियावी

रचनाकार- ज़ैद बलियावी

विधा- गज़ल/गीतिका

एक पुरानी डायरी मे,
मुझको तेरा पता मिला..,
कुछ पुरानी यादे मिली,
कुछ पुराना वफ़ा मिला..,
सब लिखा था डायरी मे,
ज़ुल्फ़ से लेकर पाँव तक..,
तेरी-मेरी दिल लगी से,
दिलपर लगे घाव् तक..,
तेरा मिलना लिखा-
पास आना लिखा,
सब लिखा निखारकर..,
बड़ी नज़ाकत से डायरी लिखा,
तुमको ग़ज़लो मे उतारकर..,
न कोई शिकवा मिला,
न कोई गीला मिला…,
फिर भी एक पन्ने पर,
तेरा छोड़ जाना मिला..,
जिस पुरानी डायरी मे,
मैं खुद को लापता मिला..,
उसी पुरानी डायरी मे,
मुझको तेरा पता मिला..,

(((((ज़ैद बलियावी)))))

Views 71
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
ज़ैद बलियावी
Posts 17
Total Views 2k
नाम :- ज़ैद बलियावी पता :- ग्राम- बिठुआ, पोस्ट- बेल्थरा रोड, ज़िला- बलिया (उत्तर प्रदेश). लेखन :- ग़ज़ल, कविता , शायरी, गीत! शिक्षण:- एम.काम.

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia