पहले प्‍यार की खातिर

bharat gehlot

रचनाकार- bharat gehlot

विधा- कुण्डलिया

पहले प्‍यार की खातिर हॅसी उल्‍लास की खातिर ,
में तुझको देखता ऐसे मधुर मधुमास की खातिर,
बहारो फुल की खातिर हद्रय की पीर की खातिर,
मन के द्रारो की खातिर मन के विकारो की खातिर,
मन मेरा डोलता है तेरे ख्‍यालो की खातिर,
मन मेरा विचलन हो जाता तुम्‍हारी एक झलक की खा‍तिर ,
मन मेरा यु तडपता है जैसे मछली तडपे नीर की खातिर ,
भरत गेहलोत
जालाेर राजस्‍थान

Sponsored
Views 13
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
bharat gehlot
Posts 24
Total Views 1k

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia