पढ़े चलो पढ़े चलो

Anuj yadav

रचनाकार- Anuj yadav

विधा- कव्वाली

पढ़े चलो पढ़े चलो
आगे तुम बढ़े चलो
अंधकार की छाया से
उजियारे की ओर चलो
पढ़ना है अति आवश्यक े
इसके बिना नहीं कुछ आवत
हिंसा का रास्ता त्याग कर
अहिंसा की ओर चलो
जिसे तुम पा ना सको
उस पल ना वक्त बर्बाद करो े
मेहनत करो जी तोड़कर
उज्जवल भविष्य का निर्माण करो

Sponsored
Views 28
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Anuj yadav
Posts 14
Total Views 530
I am a student in class 11th writing is my hobby. I live pukhrayan in Up

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia