दोस्ती

Savita Mishra

रचनाकार- Savita Mishra

विधा- कविता

आओ
जिंदगी से दोस्ती कर लें फिर से
जी भर कर बतियायें
रूठने पर मना लें इसको
हौले से प्यार से
दबा दें इसकी हथेली
इसके कांधे पर
सिर रख कर शिकायत कर लें
आओ, फिर से
जिंदगी से दोस्ती कर लें
तोड़ दें वर्जनाएँ
मन का कहना मान लें
जो भी अच्छा लगे
उसे जी भर कर जी लें
आओ, जिंदगी से दोस्ती कर लें।

Views 29
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Savita Mishra
Posts 4
Total Views 246
एसोसिएट प्रोफेसर, हिंदी विभाग। कहानी कविता व समीक्षा की 14पुस्तकें प्रकाशित।200से अधिक पत्र पत्रिकाओं में कविता कहानी समीक्षा आलेख संस्मरण यात्रा वृत्तांत प्रकाशित।दूरदर्शन व आकाशवाणी से कविता कहानी व साक्षात्कार प्रसारित|

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia