[[ दिल्लगी उनकी कहानी संगदिल भाती नही ]]

Nitin Sharma

रचनाकार- Nitin Sharma

विधा- गज़ल/गीतिका

🍁
दिल्लगी उनकी कहानी संगदिल भाती नही ,!
बात आखिर क्या हुई क्यों मुझको बतलाती नही ,!! १
🌀✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒🌀
🍁
क्या हुई गलती मुझे कुछ तो बता अहले वफ़ा ,!
अब तो खुशियाँ भूल से भी घर मेरे आती नहीं ,!! २
🌀✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒🌀
बदनसीबी ही मिली मुझको बताशा आजतक ,!
छोड़कर मुझको चले अब जिंदगी भाती नही ,!! ३
🌀✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒🌀
आज फिर से हो गया हूँ , इस तरह देखो जुदा ,!
याद भी अब उनकी आकर दिल को बहलाती नहीं ,! ४
🌀✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒🌀
लौटकर में आउगी कहकर गई थी वो मुझे ,!
लौटकर जो देखती थी आज मुस्काती नहीं ,!! ५
🌀✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒✒🌀
🍁 मक्ता 🍁
और कोई है नहीं अब " नितिन " के वास्ते ,!
तोड़कर यूँ आज दिल को राज दिखलाती नही ,!! ६

Sponsored
Views 9
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Nitin Sharma
Posts 58
Total Views 911
नितिन शर्मा , इटावा कोटा ( राजस्थान ) - ग़ज़ल /मुक्तक लेखन मोबाइल - 9784824274

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia