तुमने याद किया क्या???????????

ललित नाथ

रचनाकार- ललित नाथ

विधा- कविता

मन में कैसी टीस उठी है
तुमने याद किया क्या?
निज नैनो में प्यास जगी है
तुमने याद किया क्या?????

खिलते मिलते सब यारों से,
मायूसी दम भर सादे
मिलने की फिर लगन लगी है
तुमने याद किया क्या?????

गरम हवायें धूल गुब्बारे
मेरा चहरा छू कर जाये
हो महसूस छुअन सही है
तुमने याद किया क्या?????

कुछ सन सन का शोर कैसा
शायद लवों की हरकत हो
लगता धीरे कोई बात कही है
तुमने याद किया क्या?????

प्रेम*अबोध*बहुत रुलाता
फिर भी मुख कुछ कह ना पाता
दिल की दिल से प्रीत सगी है
तुमने याद किया क्या?????

ललित नाथ
हर्रई जागीर,छिन्दवाड़ा9479735164

Views 14
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
ललित नाथ
Posts 2
Total Views 30

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia