जोश मिल गया

राजेन्द्र कुशवाहा

रचनाकार- राजेन्द्र कुशवाहा

विधा- शेर

दुनिया को बदल कर रख दूगा वह जोश मिल गया मुझको ।
लहु उबाल भरेगा वह उदघोष मिल गया मुझको ॥
अब दुनिया भर कि जन्नत मेरे कदमों मे होगी क्योंकि,
आपके जैसा जो दोस्त मिल गया मुझको ॥
राजेन्द्र कुशवाहा

Views 24
Sponsored
Author
राजेन्द्र कुशवाहा
Posts 11
Total Views 131
DOB - 12/07/1996 पता - मो.पो. - चीचली, जिला - नरसिंहपुर, तहसील - गाडरवारा, म. प्र. मोबाइल न. 7389035257 करना वहीं राजेन्द्र जो दुनिया को दिखाई दे। स्वरो को करना बुलंद इतने की लाखों मे सुनाई दे।
इस पेज का लिंक-

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
Related Posts
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia