जगमगायेगा जुगनू मै ठानता हू माँ

Ashish Tiwari

रचनाकार- Ashish Tiwari

विधा- गीत

मै तेरी हर बात दिल से मानता हू माँ !
तेरे दुःख दर्द सपने मै जानता हू माँ !!

वादा करता हू तुझसे वो कर जाउगा ,
जगमगायेगा जुगनू मै ठानता हू माँ !!

तेरे बताये मार्ग पर हि चल रहा ,
भाई को बच्चो सा पालता हू माँ !!

मेहनत इमानदारी दया कर रहा ,
पेड़ पौधों को पानी डालता हू माँ !

शब्द आते है दिल में पिरो देता हू ,
अपने आप को मै निखारता हू माँ !

जब याद आती है चुपके से रो लेता हू ,
दिन में दस बार तुझको निहारता हू माँ !!

Views 6
Sponsored
Author
Ashish Tiwari
Posts 45
Total Views 1.5k
love is life
इस पेज का लिंक-

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
Related Posts
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia