चूड़ियाँ

सरस्वती कुमारी

रचनाकार- सरस्वती कुमारी

विधा- कविता

हर सुहागन का श्रृंगार है चूड़ियाँ
साजन का मनुहार है चूड़ियाँ।

इशारों में बात करती हैं चूड़ियाँ
हाल दिल का सुनाती हैं चूड़ियाँ।

रंग-बिरंगी सबके मन भाती ये चूड़ियाँ
जीवन को रंगीन कर जाती ये चूड़ियाँ।

ह्रदय की मधुर झंकार हैं चूड़ियाँ
प्रियतम की पुकार हैं चूड़ियाँ।

लाती खुशियों की बारात हैं चूड़ियाँ
कभी बन जाती काली रात हैं चूड़ियाँ।

Views 19
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
सरस्वती कुमारी
Posts 17
Total Views 4.5k
सरस्वती कुमारी (शिक्षिका )ईटानगर , पोस्ट -ईटानगर, जिला -पापुमपारे (अरूणाचल प्रदेश ),पिन -791111.

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia