चुनाव आयौ है …….

Pawan Paagal

रचनाकार- Pawan Paagal

विधा- गीत

मचे जो खूब हल्ला
निकल आएें दल्ला
समझ लीजै लल्ला
चुनाव आयौ रे…..

बैठे यूँ हिंदू मुल्ला
खाऐंगे रस गुल्ला
बाबाजी का ठुल्ला
चुनाव आयौ रे….

उड़ी है खूब खिल्ली
यादौंजी ड़ोलै दिल्ली,
अकड़ पड़ी ढिल्ली
चुनाव आयौ रे….

ड़ोलै हैं राहुल भय्या
खतम सब रुपय्या
फ़टी है जेब दय्या
चुनाव आयौ रे….

बहन जी बनी बिल्ली
हाथों में ड़ंड़ा गिल्ली
पहिये की टूटी तिल्ली
चुनाव आयौ रे….

मैले थे जिनके पल्लू
खाली है उनके डल्लू
सब समझे भूरा कल्लू
चुनाव आयौ रे…….

21-1-2017
शनिवार

Views 9
इस पेज का लिंक-
Sponsored
Recommended
Author
Pawan Paagal
Posts 2
Total Views 9

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia