चुगली ।

Satyendra kumar Upadhyay

रचनाकार- Satyendra kumar Upadhyay

विधा- लघु कथा

नंद और भौजाई साथ-2 एक ही जगह नौकरी करतीं थी।एक दिन नंद को पता नहीं क्या सूझा कि भाई से चुगली कर दी, नौबत रिश्ता टूटने तक आ पहुँची तो किसी तरह लोगों ने मामला सॅभाला, तो रिश्ता तो बच गया लेकिन असलियत तो ये थी कि दोनों का सगा रिश्ता नहीं था। तब शायद ये न होता ।अब भौजाई मस्त है और नंद पस्त है ।

Sponsored
Author
Satyendra kumar Upadhyay
Posts 12
Total Views 41
short story writer.
इस पेज का लिंक-

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
Related Posts
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia