गीत- आज हँसो जी भर के

आकाश महेशपुरी

रचनाकार- आकाश महेशपुरी

विधा- गीत

आज हँसो जी भर के
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
आज हँसो जी भर के न कल का ठिकाना।
किस्मत है यार इसे कौन यहाँ जाना।।
***
रोज नहीं आते हैं पल खुशियों के
किस्मत से आते हैं दल खुशियों के
यूँ खुशियों में गम का न करना बहाना-
किस्मत है यार इसे कौन यहाँ जाना।।
आज हँसो जी भर के…
***
पानी हँसेगा ये खाना हँसेगा
रहेगी उदासी जमाना हँसेगा
क्यूँ गम में यूँ रहना व खुद को सताना-
किस्मत है यार इसे कौन यहाँ जाना।।
आज हँसो जी भर के…
***
जागो रे जागो करना क्यूँ देरी
मुट्ठी में तेरे किस्मत है तेरी
है अच्छा नहीं यूँ दिन सोकर बिताना-
किस्मत है यार इसे कौन यहाँ जाना।।
आज हँसो जी भर के…

– आकाश महेशपुरी

Views 29
इस पेज का लिंक-
Sponsored
Recommended
Author
आकाश महेशपुरी
Posts 80
Total Views 1.3k
पूरा नाम- वकील कुशवाहा "आकाश महेशपुरी" जन्म- 20-04-1980 पेशा- शिक्षक रुचि- काव्य लेखन

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia