खामोश हूँ मैं कुछ वक्त के लिये

Priyanka Sharma

रचनाकार- Priyanka Sharma

विधा- कविता

गमों को हमें
छुपाना नहीं आता,
मुस्कुराना और
हँसाना नहीं आता
खामोश हूँ मैं
कुछ वक्त के लिये
क्यूंकि
दोस्तों को मुझे
रुलाना नहीं आता,
यह दिन
जब ढल जाएगा
आयेगें फिर हम
नव उत्साह के साथ
क्यूंकि हमें किसी को भी
भूलाना नहीं आता|

Sponsored
Views 59
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Priyanka Sharma
Posts 6
Total Views 146
शिक्षा- एम. ए (गोल्ड मेडलिस्ट),बी. एड| बचपन से कविता और कहानियाँ लिखने का शौक|साझा कविता संकलनों मे कई कविताएं प्रकाशित| "पिता" कविता के लिये गोल्ड मेडल|फिलहाल पी एच. डी. कर रही|

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia