कफ़न तैयार है (ग़ज़ल)

Onika Setia

रचनाकार- Onika Setia

विधा- गज़ल/गीतिका

कौन किसे खबर है!सब है इस बात से अन्जान ,
के कोई गमगीन सी रहा है अपने वास्ते कफ़न .

जिंदगी से किनारा कर ,अरमानो को अपने फूंक ,
अश्कों के धागे से सी रहा है अपने वास्ते कफ़न.

इस जहाँ से उसने क्या पाया ,महज खोया ही ,
रेशम का पैरहन नहीं उसके नसीब है सफ़ेद कफ़न .

खुदा से मिन्नतें भी की और की शिकायेंत भी बहुत ,
हासिल क्या,आखिर को अरमानो को करना पड़ा दफ़न.

ना तो कोई उसे समझ सका ,ना ही वो समझा सका,
लबों पर आते-आते ज़ज्बात हो जाते थे अक्सर मौन .

अब तक तो जी रहा था किसी तरह गम खाते हुए,
मगर जब चोट रूह पर लगी तो कांप उठा वो इंसा .

आखिरश जब इन्तेहा हो गयी दर्द की तो चीख उठा,
नहीं गर मेरे नसीब में खुशिया तो ,दे दे मुझे कफ़न .

Sponsored
Views 6
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Onika Setia
Posts 35
Total Views 1.8k
नाम -- सौ .ओनिका सेतिआ "अनु' आयु -- ४७ वर्ष , शिक्षा -- स्नातकोत्तर। विधा -- ग़ज़ल, कविता , लेख , शेर ,मुक्तक, लघु-कथा , कहानी इत्यादि . संप्रति- फेसबुक , लिंक्ड-इन , दैनिक जागरण का जागरण -जंक्शन ब्लॉग, स्वयं द्वारा रचित चेतना ब्लॉग , और समय-समय पर पत्र-पत्रिकाओं हेतु लेखन -कार्य , आकाशवाणी इंदौर केंद्र से कविताओं का प्रसारण .

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia