क्यों इश्क हुआ हमको

Govind Kurmi

रचनाकार- Govind Kurmi

विधा- कविता

जो भूल चुके हमको
हम याद करें उनको
क्या सोच रहा ये दिल
क्यों तड़पाये खुदको

💔💔💔💔💔💔💔💔💔

क्यों इश्क में ये जलता
क्यों सूरज सा ढलता
दिल ठोकर खा भी चुका
क्यों फिर भी मचलता

💔💔💔💔💔💔💔💔💔

क्यों याद वो आती है
क्यों दर्द वो लाती है
सपनों में आ आकर
क्यों रातों को जगाती है

💔💔💔💔💔💔💔💔💔

क्यों सूनी लगे महफिल
क्यों तड़प रहा ये दिल
जब नामुमकिन है ये
क्यों कहता उनसे मिल

💔💔💔💔💔💔💔💔💔

क्यों इश्क हुआ हमको
दिल चाह रहा रम को
अब बहुत तड़प चुके हम
दिल भूलना चाहे तुमको

💔💔💔💔💔💔💔💔💔

Views 31
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Govind Kurmi
Posts 38
Total Views 3k
गौर के शहर में खबर बन गया हूँ । १लड़की के प्यार में शायर बन गया हूँ ।

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia