कुण्डलिया छन्द

ATUL PUNDHIR

रचनाकार- ATUL PUNDHIR

विधा- कुण्डलिया

कोई तो कानून हो, है भारी अपराध
मच्छर आदम खूँ पियें, ले ले कर के स्वाद
ले ले कर के स्वाद, करें कानों में उँगली
रगड़ रगड़ खुजलात, मिटे ना लेकिन खुजली
कहत अतुल कविराय, नींद आँखों से खोई
मच्छर पुलिस बुलाय, पकड़वा दो अब कोई

अतुल पुण्ढीर

Views 6
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
ATUL PUNDHIR
Posts 5
Total Views 27

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia