कश्मीर का दर्द (५ हाइकु)

aparna thapliyal

रचनाकार- aparna thapliyal

विधा- हाइकु

#१

सेब के फूल
सुगन्धित सजीले
मस्तक शूल ।

*****************************
#२

बर्फ की घाटी
हरी भरी श्यामला
लहू ने पाटी !

*****************************
#३

गुल बहार
पत्थर लगी मार
हत चिनार ।
****************************

#४

धारा चिनाब
कश्मीर का रुआब
आज बेताब।

******************************
#५

केसर खेत
ना जानें मतभेद
हो रहे खेत।
अपर्णा थपलियाल "रानू"
१२.०५.२०१७

Views 6
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
aparna thapliyal
Posts 30
Total Views 306

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia