कभी भला तो कभी बुरा लगता है

सागर यादव 'जख्मी'

रचनाकार- सागर यादव 'जख्मी'

विधा- मुक्तक

कभी भला तो कभी बुरा लगता है

वो सारी दुनिया से जुदा लगता है

मुद्दत हुई उसका फोन आया न कोई खत आया

मेरा महबूब मुझसे खफा लगता है

बेहतरीन साहित्यिक पुस्तकें सिर्फ आपके लिए- यहाँ क्लिक करें

इस पेज का लिंक-
Sponsored
Recommended
Author
सागर यादव 'जख्मी'
Posts 41
Total Views 231
नाम- सागर यादव 'जख्मी' जन्म- 15 अगस्त जन्म स्थान- नरायनपुर कार्यक्षेत्र- अध्यापन प्रकाशन -अमर उजाला ,दैनिक जागरण ,रचनाकार,हिन्दी साहित्य ,स्वर्गविभा,प्रकृतिमेल ,पब्लिक इमोशन बिजनौर ,साहित्यपीडिया और देश -विदेश की बहुत सी पत्र -पत्रिकाओँ मेँ रचनाएँ प्रकाशित. स्थायी पता- नरायनपुर,नेवादा मुखलिसपुर ,बदलापुर ,जौनपुर उत्तर प्रदेश ,भारत . पिन -222125 ईमेल-sagar9565@gmail.com मो.9519473238,9984352193

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


Sponsored
हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia