एक भारत श्रेष्ठ भारत

Neelam Sharma

रचनाकार- Neelam Sharma

विधा- गीत

अद्वितीय अद्भुत अतुल्य अगम्य, भारत राष्ट्र हमारा है।
दुनिया-भर मे सबसे न्यारा अति श्रेष्ठ भारत हमारा है।
"एक भारत श्रेष्ठ भारत" यही हम सबका नारा है,
कितना सुंदर,कितना प्यारा उत्कृष्ट देश हमारा है |
आओ नींव नव धर जाएं, स्वराष्ट्र को श्रेष्ठ बनाएं।
जन-चेतना, जन-जागृति सर्व नव उल्लास जगाएं।
नैतिकता,मौलिक विचारों से,श्रेष्ठ से सर्वश्रेष्ठ बनाएं।
स्वराष्ट्र उन्नति,सर्वश्रेष्ठ भारत,फिर से श्रेष्ठ भारत बनाएं।
स्वराष्ट्र-हित है धर्म सर्वोपरि,जन-जन में ये भाव जगाएं।

साफ-स्वच्छ,सुंदर प्राकृतिक, पर्यावरण -परिवेश बनाएं।
सभी लें दृढ़ भीष्म संकल्प,जन-जन में जागृति फैलाएं।
सर्व-शिक्षा,स्वराष्ट्र तरक्क़ी,ज्ञान प्रकाश चहुंओर फैलाएं।
"सर्व धर्म,सर्व हिताय" की उक्ति को हो सशक्त अपनाएं।
धर्म निरपेक्ष,देश हमारा,बहुल्य संस्कृति-सभ्यता अपनाएं।
बहु-भाषी श्रेष्ठ स्वराष्ट्र हमारा,प्रेम-भाव को सर्वोपरि बनाएं

आ मिल नीलम हम "एक भारत श्रेष्ठ भारत"
का स्वर्णिम स्वप्न साकार बनाएं।
अद्वितीय अद्भुत अतुल्य अगम्य, भारत राष्ट्र हमारा है।
आओ नींव नव धर जाएं, स्वराष्ट्र को श्रेष्ठ बनाएं।

नीलम शर्मा

Views 7
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Neelam Sharma
Posts 213
Total Views 1.8k

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia