आज की देशभक्ति

नरेश मौर्य

रचनाकार- नरेश मौर्य

विधा- मुक्तक

देशभक्ति को बाँध दिया, तारीखों के दरवाजों में
15 अगस्त को देशभक्त, दिन बाकी उलझे काजों में
बदलो परिभाषा देशभक्ति की, तोड़ो बंधन तारीखों का
भ्रष्ट मुक्त हो यह भारत, पग-पग सम्मान हो नारी का।

Sponsored
Views 54
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
नरेश मौर्य
Posts 6
Total Views 137
नरेश मौर्य हिण्डौन सिटी,करौली,राजस्थान । Pre-medical का student हूँ , SAMBHAV ACADEMY ,जयपुर से। कविता लिखने का शौक है। 8 वीं क्लास से ही कविता लिखना शुरू कर दिया था और 4 अप्रैल 2017 से सोशल मीडिया पर लिखना शुरू किया। whatsapp 8058295898

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia