*** आओ मनाएँ भारतीय नव वर्ष ****

Neeru Mohan

रचनाकार- Neeru Mohan

विधा- कविता

*चैत्र, वैशाख, जेष्ठ,आषाढ़
है सुना किसी ने इनका नाम
नहीं सुना तो आज बताती
सार्थकता इनकी भारतवासी को आज

*यह नाम नहीं साधारण
सुन लो सभी जन यह आज
हिंदी महीनों के यह है नाम
चैत्र, वैशाख, ज्येष्ठ, आषाढ़

*पता सभी को यही है बस
शुरू होता नव वर्ष
एक जनवरी से बस
एक जनवरी को नया साल
सभी मनाते
चैत्र को हम सब भूल हैं जाते

*चैत्र से शुरू होता है
हिंदु नव वर्ष
फागुन बारहवाँ माह है कहलाता
होली के जाते ही लोगों
हिंदु नव वर्ष आगमन कर जाता

*जैसे दिवाली, दशहरा, होली,
राखी, तीज, गणगौर मनाते हो
फिर क्यों हिंदु नया साल भूलकर
नया साल सिर्फ अंग्रेजों वाला ही
क्यों मनाते हो ?

*याद सभी यह रखना आज से
केसरिया भगवा झंडा
ऊपर लगाना घर के
खीर और पूड़ी बनाकर
हिंदु नव वर्ष सभी भारतवासी तुम
इसी साल से मनाना मिलकर के

*विदेशी नव वर्ष यह कैसा हर्ष
आओ मनाएँ भारतीय नववर्ष
आओ मनाएँ भारतीय नववर्ष |||||

Views 41
इस पेज का लिंक-
Sponsored
Recommended
Author
Neeru Mohan
Posts 73
Total Views 2.7k
व्यवस्थापक- अस्तित्व जन्मतिथि- १-०८-१९७३ शिक्षा - एम ए - हिंदी एम ए - राजनीति शास्त्र बी एड - हिंदी , सामाजिक विज्ञान एम फिल - हिंदी साहित्य कार्य - शिक्षिका , लेखिका friends you can read my all poems on my blog (काव्य धारा) blogspot- myneerumohan.blogspot.com

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia