अगर पास……………….. आजमा लेते |गीत|

मनोज कुमार

रचनाकार- मनोज कुमार

विधा- गीत

अगर पास आके मुस्करा देते
मिट जाते शिकवे आजमा लेते
दिल की कहानी थोड़ा कह देते
तेरे ही तो हैं आजमा लेते

अगर पास…………………………………….. आजमा लेते

तन्हाई दूर सारी हो जाती
तुम अगर दिल से बुला लेते
पत्थरों में भी फूल खिल जाते
प्रेम के अगर तुम बीज बरसाते

अगर पास…………………………………….. आजमा लेते

नैनों के मोती सब रुक जाते
तुम अगर दूर जब नही जाते
अर्पण जो तन मन कर देते
बसा लेते दुनिया आजमा लेते

अगर पास…………………………………….. आजमा लेते

सपनों से काश बाहर आ जाते
प्रेम की तुम ज्योति जला जाते
हम पंछी बन उड़ – उड़ जाते
बन जाते रिश्ते आजमा लेते

अगर पास…………………………………….. आजमा लेते

“मनोज कुमार”

Sponsored
Views 48
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
मनोज कुमार
Posts 40
Total Views 771
नाम - मनोज कुमार , जन्म स्थान - बुलंदशहर , उत्तर प्रदेश (भारत) , शिक्षा - एम. एस. सी. ( गणित ) , शिक्षा शास्त्र , EMAIL - MPVERMA85@YAHOO.IN https://manojlyricist.blogspot.in/

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia