अँधेरा ही पायेगा

Surya Karan

रचनाकार- Surya Karan

विधा- गज़ल/गीतिका

अमरनाथ यात्रा पर 10-7-2017 को हुवे आतंकी हमले पर जेहादियों को झकझोंरने वाली रचना ।
*********************************

अपने कर्मों से मुँह ना फेर पायेगा
ख़ुदा गवाह है, जहन्नुम में जायेगा

आज बुलंदियों पर है हौसले तेरे
फिक्र कर गर्दिशों का दौर आएगा

तेरा अपना जब सूली चढ़ जायेगा
ख़ुद अपने आँसूओ में डूब जायेगा

डराता है बन्दुक की नोक पर ज़ाहिल
मौत आएगी ,खुद डर के मर जायेगा

बदला लेने की फितरत ना पाल"साहिल
घर जलाके अपना ,तू अँधेरा ही पायेगा

सूर्य करण सोनी #अग्निवृष्टि 🌞
11-7-2017

Sponsored
Views 6
इस पेज का लिंक-
Recommended
Author
Surya Karan
Posts 15
Total Views 117
Govt.Teacher, M.A. B.ed (eng.) Writer.

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देंं


हिंदी साहित्यपीडिया का फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें और जुड़ें दुनिया भर के साहित्यकारों एवं पाठकों से- facebook.com/groups/hindi.sahityapedia